चीन को बड़ा झटका देते हुए,रूस ने S-400 मिसाईल की डिलीवरी करने से कर दिया मना…

ट्रेडिंग


Russia immediately banned S-400 missiles from China: रूस चीन को S-400 मिसाइल देने वाला था लेकिन उसने इस पर तत्काल रोक लगा दिया! अब इसको चीन के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है! अहम बात यह है कि रसिया के द्वारा इस मिसाइल पर रोक लगाने से पहले मॉस्को ने बीजिंग पर जासूसी करने का आरोप लगाया था! इस घटना को एक और घटना के साथ जोड़कर देखा जा रहा है! दरअसल उसी अधिकारी ने अपने सेंट पीटर्सबर्ग आर्कटिक सोशल साइंसेज अकादमी वालेरी मिट्को को चीन को गोपनीय सामग्री सौंपने का दोषी पाया है!

चीन ने रूस के इस कदम पर दी सफाई
रूस की घोषणा के बाद, चीन ने स्पष्ट किया है कि मास्को को इस तरह का निर्णय लेने के लिए मजबूर किया है, क्योंकि यह चिंतित है कि इस समय एस-400 मिसाइलों का वितरण पीपुल्स लिबरेशन आर्मी की महामारी विरोधी गतिविधियों को प्रभावित करेगा! चीन ने आगे कहा कि रूस नहीं चाहता कि इससे बीजिंग को कोई परेशानी हो! चीन का कहना है कि रूस को मिसाइल देने का फैसला कई कारणों से स्थगित कर दिया गया है! बीजिंग का कहना है कि इस तरह के ह-थियारों का सौदा एक जटिल प्रक्रिया है! इसके अलावा, कर्मियों को हथियारों का उपयोग करने के लिए प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है! इसके लिए, कर्मियों को रूस भेजा जाना था, लेकिन कोरोना महामारी के युग में यह काफी खतरनाक है!

कूटनीतिक मोर्चे पर कई देशों के साथ संघर्ष
रूस ने इस आपूर्ति को रोक दिया है जब चीन अपनी आक्रामकता के कारण राजनयिक मोर्चे पर कई देशों को एक साथ लड़ रहा है! उन्होंने पूर्वी लद्दाख में चीनी सेना के संघर्ष के बाद भारत के साथ संबंध तनावपूर्ण कर लिए हैं! दक्षिण चीन सागर और होंगकोंग को लेकर वह अमेरिका एवं यूरोपीय देशों के साथ जापान ऑस्ट्रेलिया वियतनाम कंबोडिया इंडोनेशिया से उनके रिश्ते खट्टे हो गए हैं! ऐसे में एस -400 मिसाइलों पर रूस का प्रतिबंध चीन के लिए चिंता का विषय हो सकता है! रूस के इस कदम के कई मायने निकाले जा रहे हैं!

CopyAMP code

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *