अभी-अभी : रतन टाटा ने फिर दिखाई देशभक्ति, सेना ने कहा -कि ये है दुश्मन का मौत का सामान…. देखे….

ट्रेडिंग


देश के दो बड़े बिजनेस टायकून अब राष्ट्रधर्म निभाने के लिए रक्षा प्रौद्योगिकी में अपना सहयोग देने का मन बना चुके हैं| मुकेश अम्बानी की कम्पनी रिलायंस डिफेन्स पहले ही इजराइल कम्पनी राफेल के साथ मिलकर मिसाइलो का निर्माण कर रही हैं वही रक्षा क्षेत्र में अभूतपूर्व सहयोग देने वाली भारत की जानी मानी कम्पनी टाटा भी अब हेलीकाप्टर और विमान निर्माण कार्य में लग गयी हैं |बीते दिनों अमेरिका के साथ एफ-16 लड़ाकू विमान भारत में ही बनाने के लिए एक करार हुआ हैं | यह एफ-16 बनाने वाली अमेरिकी कम्पनी भारत की पुरानी कम्पनी टाटा के साथ संयुक्त रूप से प्रलयंकारी फाइटर प्लेन बनाएगी |

जैसा की सभी को पता हैं जब टाटा के चैयरमैन रतन टाटा जी थे, तभी से टाटा भारतीय फ़ौज के लिए शक्तिशाली और भरोसेमंद वाहनों के अतिरिक्त एंटी लैंडमाइन भी बना चुकी हैं और यह आज भी कई वर्षो से रक्षा क्षेत्र से जुड़े हैं | बोईंग नाम की इस अमेरिकी कम्पनी के साथ चिनूक हेलीकाप्टर और अपाचे हेलीकाप्टर बनाने का जो करार हुआ हुआ था,भारतीय कम्पनी टाटा उसको अमली जामा पहना रही हैं |बीते दिनों अमेरिकी कपनी बोईंग ने चिनूक हेलीकाप्टर के पार्ट्स भारत भेजे थे, अब टाटा कम्पनी के कारखाने में इन पार्ट्स को जोडकर एक प्रलयंकारी हेलीकाप्टर बनाया जा रहा हैं और अब अपाचे हेलीकाप्टर के पार्ट्स भी भारत आने लगे हैं तो टाटा की फैक्ट्री में इन अपाचे हेलीकाप्टर को बनाया जायेगा |

रक्षा विशेषज्ञों ने बताया कुछ सालो बाद ये दो हाहाकार मचा देने वाले हेलीकाप्टर भारतीय वायु सेना की शोभा बढायेगे |अभी कुछ दिनों पहले पीएम मोदी अमेरिकी यात्रा पर गये थे जहाँ भारत और अमेरिका के बिच एफ-16 फाइटर जेट बनाने के लिए करार हुआ था, उनका निर्माण भी टाटा करने वाला हैं | इसके लिए टाटा ने तयारी शुरू कर दी हैं |कुछ दिनों बाद एफ-16 बनाने वाली कम्पनी लॉकहिड मार्टिन के अधिकारी इस फक्ट्री का मुयायना करने भारत आयेगे |जिसके बाद बड़ी तेजी से भारत में एफ-16 फाइटर जेट बनाने का काम शुरू हो जायेगा |

CopyAMP code

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *