बॉलीवुड – एक्टिंग, फिल्म्स तो सिर्फ दिखावा, असली धंधा ड्रग्स, हवाला, वैश्यावृत्ति, धर्मांतरण, आतंकवाद

ट्रेडिंग


बॉलीवुड भारत और खासकर युवा पीढ़ी और खासकर ‘हिन्दुओ की युवा पीढ़ी’ के सबसे बड़े दुश्मनों में से एक है, बॉलीवुड कथित रूप से एक फिल्म इंडस्ट्री है जो मूल रूप से मुंबई में चलती है

पर असल में बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री नहीं बल्कि हवाला, काला पैसा, वैश्यावृत्ति, ड्रग्स, धर्मातंरण और आतंकवाद की इंडस्ट्री है, फिल्म्स और एक्टिंग, कलाकारी तो सिर्फ दिखावा है, असली धंधा हवाला, काले पैसे का है, ड्रग्स का है, धर्मांतरण, वैश्यावृत्त और आतंकवाद का है

बॉलीवुड ड्रग्स का अड्डा है और ये तो सुशांत केस की जांच के बाद हो रहे खुलासों और गिरफ्तारियों को देखकर आपको पता चल ही गया होगा, बड़े बड़े एक्टर, प्रोडूसर शामिल है और आने वाले समय में इनकी गिरफ्तारियां भी होंगी, जिन लोगो को आप बड़ा एक्टर, प्रोडूसर समझते है असल में वो ड्रग माफिया है, मुंबई शहर में आज एक बड़ी युवा आबादी ड्रग्स लेती है, और ड्रग्स की सप्लाई का काम इन्ही बड़े बड़े एक्टर्स, प्रोडूसर के माध्यम से किया जाता है, फायदा ये है की इनपर किसी को शक नहीं होता

सारा अली खान, रिया चक्रबर्ती तो बहुत छोटी मछलियाँ है, आने वाले समय में कई बड़े नाम सामने आएंगे
बॉलीवुड के जरिये हिन्दुओ के धर्मांतरण का खेल किया जाता है – बॉलीवुड के जरिये जो सेकुलरिज्म फैलाया जाता है वो खास तौर पर हिन्दू युवा पीढ़ी को ध्यान में रखकर फैलाया जाता है, हिन्दू युवा पीढ़ी के माइंड को करप्ट किया जाता है, और हिन्दू लड़कियों का आसानी से धर्मांतरण किया जाता है वहीँ हिन्दू लडको को वामपंथी, सेक्युलर बनाया जाता है जो असल में हिन्दू विरोधी हो चुके होते है

बॉलीवुड में एक ट्रेंड मिलेगा – मुस्लिम पति और हिन्दू पत्नी, और बच्चे सिर्फ और सिर्फ मुस्लिम, इस ट्रेंड का पालन बड़े से लेकर छोटे लोग करते है, चाहे वो शाहरुख़ खान, आमिर खान हो या छोटा मोटा टीवी सीरियल एक्टर, अधिकांश मामलों में हिन्दू लड़कियों का ही धर्मांतरण होता है और उनसे मुस्लिम बच्चे पैदा किये जाते है, ऐसे कपल्स का प्रचार भी किया जाता है और छोटे बड़े शहरों में हिन्दू लड़कियों में सेकुलरिज्म भरा जाता है और वो आसानी से लव जिहाद का शिकार हो जाती है

बॉलीवुड के जरिये काले पैसे को सफ़ेद किया जाता है, दावूद का एक बड़ा काम बॉलीवुड के जरिये पैसा बनाने का ही है, बॉलीवुड की फिल्मो में काला पैसा लगाया जाता है और उसे वाइट किया जाता है, कहा जाता है की कमाई टिकेट बेचने से हुई है, पर असल में फिल्म हॉल तो खाली रहते है, बॉलीवुड देश में एक बड़ा हवाला नेटवर्क का अड्डा है

बॉलीवुड का एक मुख्य काम वैश्यावृत्ति का भी है, बड़ी बड़ी पार्टियाँ होती है, नेता लोग भी पार्टी करते है और बॉलीवुड इन पार्टियों मे वैश्याओं की सप्लाई का काम करता है, आपको याद होगा एक नेता एक बड़ी बॉलीवुड हेरोइन से बात कर रहा था, और हेरोइन उसे बोलती है की – उम्र थोड़ी कुछ होता है, टांगों के बीच में ही सबकुछ होता है (यहाँ हम नेता और उस हेरोइन का नाम नहीं ले रहे, पर हिंट है की नेता उत्तर प्रदेश से था और सपा के जरिये उसका नाम बना था, वहीँ बॉलीवुड हेरोइन बंगाली मूल की थी)

बॉलीवुड में कास्टिंग कौच, इसके बारे में कौन नहीं जानता, छोटे छोटे शहरों की लड़कियों को फिल्म करियर के नाम पर आकर्षित कर बॉलीवुड लाया जाता है और उनका शोषण किया जाता है, उनमे से 2-4 को सफलता और फिल्मे मिल भी जाती है, पर अधिकतर वैश्यावृत्ति में ही धकेल दी जाती है

बॉलीवुड में जो काला कारोबार होता है उसका एक बड़ा हिस्सा आतंकवादियों और पाकिस्तान तक पहुँचता है, दावूद की बड़ी कमाई बॉलीवुड के काले कारोबार से ही होती है और दावूद के जरिये मोटा पैसा पाकिस्तान और आतंकवादियों तक पहुँचता है

बॉलीवुड जिसे आप फिल्म इंडस्ट्री समझते है, वो असल में वैश्यावृत्ति, शोषण, काले पैसे, आतंकवाद, धर्मांतरण और ड्रग्स का अड्डा है और इसके जरिये दशकों से देश को खोखला किया जा रहा है

CopyAMP code

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *