यहाँ से गए रॉ चीफ, वहां सुधर गया ओली, फिर करने लगा पुराने नेपाली नक़्शे का इस्तेमाल, आ गया लाइन पे

ट्रेडिंग


कहावत है की जब घी सीधी ऊँगली से न निकले तो फिर ऊँगली को थोडा टेढ़ा करना पड़ता है, प्रधानमंत्री मोदी ने भी ये ही काम किया है और अब नेपाली प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली सुधर गया है

अभी इसी साल के मई में नेपाली प्रधानमंत्री ओली ने नेपाल का नया नक्शा जारी कर दिया था और भारत के पिथोरागढ़ जिले के कुछ हिस्सों को नेपाल में दिखा दिया था

ओली की सरकार ये सब चीन के कहने पर कर रही थी और बेवजह ही भारत के साथ सीमा विवाद को जन्म दिया जा रहा था, ओली को चीनी महिला राजदूत ने फंसाया था और उसी के दबाव में वो चीन के इशारे पर चल रहा था

ओली के कई कारनामे है और उनकी जानकारी भारत सरकार को भी है, ओली की सरकार लगातार भारत विरोधी हरकत कर रही थी फिर मोदी सरकार ने भी ऊँगली टेढ़ा करने का निर्णय ले लिया

अभी हाल ही में 21 अक्टूबर को भारत के ख़ुफ़िया विभाग रॉ के प्रमुख सामंत गोयल नेपाल गए थे, इसके बाद से ही अब ओली एकदम सुधर चूका है

ओली ने नवरात्री के मौके पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया और इस कार्यक्रम में बड़ी बात ये रही की उसने नेपाल के पुराने नक़्शे का ही इस्तेमाल किया, जो नक्शा मई महीने में जारी किया था वो गायब कर दिया गया, और जो पहले का नक्शा था ओली ने उसी का इस्तेमाल किया

नए नक़्शे में ओली ने कालापानी लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को नेपाल में दिखाया था, पर ओली ने अब इस नए नक़्शे का इस्तेमाल बंद कर दिया और वो पुराने नक़्शे को ही लेकर आया

लोग भी हैरान हो गए की अचानक ओली को क्या हुआ, वो पहले तो नेपाल के नए नक़्शे को लेकर बहुत एक्टिव था पर वो अब खुद पुराने नक़्शे को ही लेकर चल रहा है

रॉ प्रमुख सामंत गोयल ने ओली से नेपाल में मुलाकात की थी उसी के बाद से ओली ने पुराने नक़्शे का इस्तेमाल शुरू कर दिया और नए नक़्शे को खुद छोड़ दिया, साफ़ है की प्रधानमंत्री मोदी ने ओली को उसी भाषा में समझाया है जिसमे उसे बात समझ आती है, भारत के पास भी ओली को लेकर कई जानकारियां है जिसे भारत पब्लिक नहीं करना चाहता पर मौका पड़ने पर भारत ऊँगली टेढ़ी करना भी जानता है

CopyAMP code

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *